National

जम्मू कश्मीर के शोपियां में 4 आतंकी ढेर, ऑपरेशन अभी भी जारी

Wed, 04/22/2020 - 01:24

जम्मू कश्मीर के शोपियां के एक गांव में कल देर रात से जारी एक मुठभेड़ में अब तक 4 आतंकी मारे जा चुके है। खबर लिखे जाने तक अभी भी मुठभेड़ जारी है। गुप्त सूत्रों से मिली जानकारी के बाद सेना की 55 राष्ट्रीय राइफल्स, सीआरपीफ और जम्मू कश्मीर पुलिस ने सयुंक्त तलाशी अभियान शुरू किया।

देर रात एक घर की तलाशी के दौरान आतंकियों ने सुरक्षा बलों पर गोली बारी शुरू की। सुरक्षा बलों की जवाबी कार्यवाही में अब तक 4 आतंकी मारे जा चुके है। सेना की चिनार कोर ने ट्विटर पर जानकारी देते हुआ बताया है की अभियान अभी भी जारी है और कोई भी आतंकी बच कर नहीं जा पायेगा।

0 comments

कोरोना संकट में योगी आदित्यनाथ मजबूत नेता के साथ कुशल प्रशासक बन कर उभरे है

Tue, 04/21/2020 - 01:58

उन्नाव रेप केस में पुलिस की कार्रवाई, गोरखपुर के अस्पताल में बच्चों की मौत, शहरों के बदलते नाम और रोजगार देने में कमजोर होना. पिछले तीन साल में योगी सरकार को घेरने के लिए विरोधियों के पास बहुत कुछ था. एक ओर योगी जी एनकाउंटर के आंकड़ों का हवाला देकर बताते थे कि कानून व्यवस्था सुधरी है और उधर दूसरी ओर उन्नाव जैसे ही किसी कस्बे, गांव या शहर रेप की खबर आ जाती थी. विरोधियों को सरकार पर हमला करने का मौका मिल जाता था लेकिन पिछले कुछ वक्त से योगी आदित्यनाथ एकदम बदले नजर आ रहे हैं. कोरोना संकट के दौर में योगी आदित्यनाथ एक योगी की तरह ही नजर आ रहे हैं.

0 comments

कैंसर से लड़ रही ओडिशा की रमा साहू कोरोना के खिलाफ गांव वालों को कर रही जागरूक

Fri, 04/17/2020 - 02:11

कोरोना संकट के दौर में ओडिशा के गंजाम जिले के खंडारा गांव से एक प्रेरणादायक कहानी सामने आई है. यहां गर्भाशय के कैंसर से पीड़ित होने के बावजूद एक आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री अपने क्षेत्र में कोरोना को लेकर लोगों को जागरुक करने का काम रही हैं. आंगनबाड़ी कार्यकर्त्री रामा साहू के काम की तारीफ ओडिशा के कोविड-19 प्रवक्ता सुब्रतो बागची भी कर चुके हैं.

0 comments

दक्षिणी दिल्ली में पिज्जा डिलीवरी करने वाले को कोरोना, 72 घर किये गए सील

Thu, 04/16/2020 - 02:54

लॉकडाउन में पिज़्जा घर पर मंगाना आपके लिए मुश्किलें खड़ी कर सकता है। दिल्ली में एक पिज़्जा डिलीवरी करने वाले व्यक्ति को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है। डिलीवरी करने वाले की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद जिन जिन घरों में उसने हाल ही में पिज़्जा डिलीवर किया था उन्हें सील किया गया है।

जाँच के बाद 72 ऐसे घर पाए गए जंहा पर कोरोना से संक्रमित व्यक्ति ने पिज़्जा डिलीवर किया था। 72 घरों में रहने वाले सभी लोगों को उनके ही घरों में क्‍वारंटीन कर दिया गया है। वंही उसके साथ के 17 अन्य डिलीवरी करने वालों को भी सरकार की निगरानी में क्‍वारंटीन कर दिया गया है।

0 comments

आंख मूंदकर सोशल मीडिया मैसेज पर विश्वास मुस्लिम समुदाय को पीछे ले जा रहा है

Thu, 04/16/2020 - 01:54

यूपी के मुरादाबाद में कल लोगों के टेस्ट के लिए गई एक मेडिकल टीम पर हमला हुआ. हमले में डॉक्टर, एंबुलेंस ड्राइवर समेत कई लोगों को चोट लगी. दरअसल मुरादाबाद में एक पीतल कारोबारी की कोरोना से मौत हो गई थी. मेडिकल टीम कारोबारी के परिजनों को आइसोलेट करने के लिए गई थी. खास बात ये है कि कोरोना से मारे गए कारोबारी के भाई की तबियत खराब है और उसे भी कोरोना होने की आशंका है. हमले में बुरी तरह घायल एक डॉक्टर की तस्वीर सोशल मीडिया पर खासी वायरल है.

0 comments

लॉकडाउन की वजह से रेड लाइट एरिया में भी सन्नाटा, सेक्स वर्कर के भुखमरी जैसे हालात

Wed, 04/15/2020 - 01:35

भारत में मोदी सरकार ने कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ाने का फैसला किया है. लॉकडाउन कोरोना को रोकने में कामयाब साबित हो रहा है लेकिन एक बड़े तबके के लिए रोजी-रोटी का संकट भी खड़ा हो गया है. सेक्स वर्कर का काम करने वाली महिलाओं के सामने भी इसी तरह का संकट है. भारत में सेक्स वर्कर का काम करने वाली महिलाओं की मुश्किलों का जिक्र अलजजीरा की एक रिपोर्ट में किया गया है.

0 comments

आगरा में फैले हुए दूध को पीते आदमी और जानवर की तस्वीर की वजह क्या सिर्फ लॉकडाउन है

Tue, 04/14/2020 - 02:22

आगरा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. इस वायरल वीडियो में एक शख्स सड़क पर फैले दूध को बर्तन में भरते दिख रहा है और दूसरी तरफ कुत्ते उसी फैले दूध को पीते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो को कई लोगों ने लॉकडाउन से जोड़ा है. कई वेबसाइट ने हेडिंग लगाई है, "लॉकडाउन का असर, सड़क पर गिरा दूध तो साथ में पीने लगे इंसान और जानवर". इस तस्वीर को लॉकडाउन से जो़ड़ा जाना भारत की गरीबी का उपहास है. भारत लॉकडाउन के पहले भी इतना ही गरीब था, जितना लॉकडाउन के बाद है.

0 comments

क्या अंग्रेजो की फूट डालो और राज करो नीति के अहम् किरदार थे अंबेडकर?

Tue, 04/14/2020 - 01:32

कल भारत के संविधान निर्माता माने जाने भीमराव अंबेडकर की जयंती थी.उनका जन्म 14 अप्रैल 1891 को एमपी के एक छोटे से गांव में हुआ था.भीमराव अंबेडकर के पिता का नामा रामजी मालोजी सकपाल और माता का नाम भीमाबाई था.वो अपने माता पिता की चौदहंवी संतान थे.आंबेडकर का जन्म सामाजिक रूप से छूत मानी जाने वाली महार जाति में हुआ था.ऐसे में बचपन से ही उन्होंने सामाजिक अस्पृश्यता को देखा था.

0 comments

महामारी के समय भी सोशल मीडिया पर गन्दी राजनीति से बाज नहीं आ रहे राजनीतिक दल

Sat, 04/11/2020 - 00:42

कोरोना वायरस से पैदा हुए संकट के बीच देश में केंद्र और बाकी राज्यों की सरकारें इससे निपटने में लगी हुई हैं. सभी सरकारें अपनी अपनी ओर पूरा प्रयास कर रही हैं. देश में फिलहाल राजनीतिक आरोप प्रत्यारोप का दौर नहीं चल रहा है. अगर कोई आरोप लगाता है तो जरूरी नहीं कि दूसरा इसका जवाब दे ही. ऐसे में राजनीति का सवाल खत्म हो जाता है लेकिन राजनीति हो रही है और करने वाले भी राजनीतिक दल ही हैं. दरअसल सोशल मीडिया पर राजनीति की दुनिया को जिंदा रखने का काम राजनीतिक पार्टियों की आईटी सेल कर रही हैं.

0 comments

भारतीय सेना का वीर जिसने मुस्कराते हुए दुनिया को अलविदा कहा

Fri, 04/10/2020 - 03:36

कर्नल नवजोत सिंह बल जैसे विरले कई ऐसे हीरो होते है जिनके बारे में पढ़ने या लिखने का मौका अकसर हमे उनके इस दुनिया से जाने के बाद मिलता है। उनकी ये फोटो कल से सोशल मीडिया और मीडिया में चल रही है। ये फोटो खुद कर्नल बल ने दुनिया को अलविदा कहने के ठीक एक दिन पहले ली है। 9 अप्रैल को उन्होंने कैंसर से लड़ते हुए इस दुनिया को अलविदा कहा।

जैसा की आप देख सकते है की फोटो में कर्नल का दाहिना हाथ नहीं है, बायें हाथ से जिस मुस्कान और बिना किसी शिकन के जिस तरह से वो कैमरे की तरफ देखते हुए फोटो ले रहे है उससे ये अंदाजा लगाया जा सकता है की उनका व्यक्तित्व कितना ही विरला था।

0 comments

एक अदृश्य दुश्मन ने पूरे मानव समाज को अंदर दुबक कर बैठने पर मजबूर कर दिया है

Fri, 04/10/2020 - 02:33

ओडिशा के सीएम नवीन पटनायक हाल ही में राज्य में 30 अप्रैल तक लॉकडाउन बढ़ाने का ऐलान किया. ये ऐलान करते वक्त उन्होंने कहा ," कोरोना ऐसी महामारी है जो सदियों में एक बार आती है, जीवन अब पहले जैसा नहीं हो पाएगा". सड़कों की वीरानगी देखकर पटनायक का बयान सही समझ आता है. हमने 25 साल के अपने जीवन में कभी ऐसा नहीं देखा. सड़कों पर सन्नाटा ऐसा नजर आता है जैसे दुनिया खत्म सी हो चुकी हो, लोगों के चेहरे मुरझाए हुए रहते हैं. जिंदगी के कैद होने की निराशा लोगों के चेहरे पर साफ नजर आती है. इसीबीच दर्द उनका और गहरा है जिनके सामने रोजी रोटी की समस्या है.

0 comments

5 स्पेशल फ़ोर्स कमांडो, 5 आतंकी: एक ऐसी जंग जिसकी कहानी लाशें बयां क़र रही थी

Tue, 04/07/2020 - 02:01

बीते रविवार जब पूरा हिंदुस्तान कोरोना वायरस के चलते लॉकडाउन की अवस्था में प्रधानमंत्री मोदी की आवाज पर घरों में दिया जला क़र पुरे विश्व को इस गंभीर संकट से लड़ने के लिए एकजुटता का परिचय दे रहा था उसी समय कश्मीर में सेना के जवान, पाकिस्तान से चुपचाप सीमा पार घुस आये आतंकियों से लड़ रहे थे।

0 comments

आखिर गांव से लोगों को दिल्ली जैसे शहर क्यों आना पड़ता जबकि उन्हें न छत मिल पाती है न खाना

Mon, 04/06/2020 - 03:32

जब कोरोना की वजह से बीते दिनों देश में लॉकडाउन हुआ तो देश के बहुत से लोग शहरों से अपने गांवों की ओर निकल पड़े. बसें, ट्रेन सब बंद थे. ऐसे में लोग पैदल ही अपने गांवों की ओर चल दिए. इन लोगों के अंदर तमाम तरह के डर थे. रोजी-रोटी और शहर में ठिकाना छिन जाने का डर. दिल्ली में बीमारी का डर, लोगों अपने गांवों को सुरक्षित मानते हैं. जब लोग इस तरह पैदल चल दिए तो सरकारों को दबाव में बसें-चलानीं पड़ीं और लोगों को ठिकानों तक पहुंचाया गया.

0 comments

बरसों पुरानी टीबी की वैक्सीन से जगी कोरोना से लड़ने की उम्मीद

Sat, 04/04/2020 - 02:44

भारत में नवजात शिशुओं के टीकाकरण में सालों से प्रयोग में आने वाली बीसीजी वैक्सीन से कोरोना वायरस से लड़ने की उम्मीद जगी है। बीसीजी वैक्सीन भारत में दशकों से घातक बीमारी टीबी से लड़ने में मददगार रही है। दुनिया के कई देश इस वैक्सीन का इस्तेमाल टीबी से बचाव के लिए करते आ रहे है।

0 comments

कोरोना के बाद क्या हमारा बीमार चिकित्सा तंत्र सुधरेगा?

Fri, 04/03/2020 - 03:05

कोरोना वायरस के दुनियाभर में फैलने के बाद भारत समेत दुनिया के कई देशों में लॉकडाउन है. लोगों को अपने घरों में रहने की सलाह दी जा रही है. जो लोग समझदार हैं या कोई मजबूरी नही है वो घरों में रह भी रहे हैं. ये हम सब के लिए एक अलग ही अनुभव है. रोज काम पर जाने वाले लोग घरों में बैठे हैं. सड़कों पर शांति हैं. जिन शहरों में गाड़ियों का शोर ही सुनाई देता था अब वहां कोयल की आवाजें सुनाई देती हैं. दिल्ली जैसे शहरों की हवा साफ है, लोग नीले आसमान की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कर रहे हैं. लोगों की थमी हुई इस जिंदगी के बीच बहुत कुछ सोचने का वक्त भी मिल रहा है.

0 comments

Pages