राज्य सभा में कृषि से सम्बंधित बिलों पर चर्चा के दौरान विपक्ष ने जमकर हगांमा काटा। उपसभापति हरिवंश नारायण सिंह के साथ तृणमूल कांग्रेस के डेरेक ओ'ब्रायन ने न सिर्फ छीना छपटी की बल्कि उनके माइक को भी तोड़ दिया।

विरोध के दौरान आम आदमी पार्टी के राज्य सभा सांसद संजय सिंह ने मार्शल के साथ मार पीट की कोशिश की और अभद्र भाषा का प्रयोग भी किया। उच्च सदन के सांसदों के इस तरह के व्यवहार के बाद सभापति उपराष्ट्रपति वैंकया नायडू से दोषी सांसदों के खिलाफ कार्रवाही की अपेक्षा की जा रही थी।

आज सुबह जैसे ही कार्यवाही शुरू हुई, सभापति ने संजय सिंह, डेरेक ओ'ब्रायन सहित कुल आठ सांसदों को बचे हुए सत्र के लिए निलंबित कर दिया। साथ ही सभापति ने कहा की सांसदों को अपने व्यवहार की समीक्षा करनी चाहिए। वैंकया नायडू ने कहा की कल की घटना से उन्हें काफी दुःख पंहुचा है।

हलाकि की निलंबन की घोषणा के बाद भी विपक्ष ने हगांमा जारी रखा और निलंबित किये गए सभी आठ सांसदों ने हाउस से जाने से इंकार कर दिया। विपक्षी सांसदों ने निलंबित सांसदों के पक्ष में नारेबाजी भी की।

बढ़ते हंगामे और निलंबित सांसदों के बाहर न जाने के कारण राज्य सभा की कार्यवाही को कुछ समय के लिए स्थगित कर दिया गया। सदन का मानसून सत्र बुधवार को समाप्त हो रहा है।