सड़क दुर्घटनाएं बेहद ही खतरनाक हैं. न जाने कितने लोगों को असमय ही इनसे जान गंवानी पड़ती हैं और न जाने कितने लोगों दिव्यांग हो जाते हैं. भारत में भी सड़क हादसों में जान गंवाने वालों की तादाद बेहद ज्यादा है. इसके पीछे तमाम कारण हैं. खराब रोड या रोड बनाने में तकनीकी खामियां या लोगों की खुद की लापरवाही भी एक वजह भी एक बडी वजह से जिसे हादसे होते हैं. गलत समय पर यात्रा करना भी कई बार हादसे का कारण बनता है. आज हमको बताने जा रहे हैं वो कौन सा वक्त है जिसमें सड़क हादसे सबसे ज्यादा होते हैं.

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय के मुताबिक शाम को 6 बजे से रात 9 बजे के बीच सबसे ज्यादा सड़क हादसे होते हैं. इस वक्त में 18.4 फीसदी सड़क हादसे होते हैं. हालांकि रात 9 बजे से 12 बजे के बीच हादसों में कमी आती है. इस दौरान 10.7 फीसदी सड़क हादसे होते हैं. शाम 3 बजे से 6 बजे के बीच का वक्त भी यात्रा के लिए सुरक्षित नहीं है.

इस अंतराल में 17.7 फीसदी हादसे होते हैं. दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच के वक्त भी सड़क हादसों की संख्या काफी ज्यादा है. इस दरम्यान 15.4 फीसदी सड़क हादसे होते हैं. सुबह 9 बजे से दोपहर 12 बजे के बीच के वक्त में भी हालत अच्छी नहीं है. इस दौरान 15.4 फीसदी सड़क हादसे होते हैं.

मंत्रालय के आंकड़े दिखाते हैं कि जैसे जैसे दिन बढ़ता जाता है हादसों की तादाद भी बढ़ती जाती है. रात के वक्त भी सड़क हादसे कम होते हैं. मसलन रात के 12 बजे से सुबह 3 बजे के बीच सबसे कम 5.4 फीसदी सड़क हादसे होते हैं. उसके बाद सुबह 3 बजे से 6 बजे के बीच सड़क हादसे थोड़े बढ़ जाते हैं. इस दौरान 5.9 फीसदी सड़क हादसे होते हैं. इसके बाद सुबह 6 बजे से 9 बजे के बीच हादसों की संख्या में तेज इजाफा होता है. इस दौरान 11.1 फीसदी सड़क हादसे होते हैं.