न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च में शुक्रवार को एक हमले में शुक्रवार को 49 लोगों की जान चली गई.क्राइस्टचर्च में ये हमला दो मस्जिदों पर हुआ.इस दौरान बांग्लादेश की क्रिकेट टीम मस्जिद में मौजूद थी.हालांकि बांग्लादेशी टीम को हमले में कोई नुकसान नहीं पहुंचा है.हमले के बाद से क्राइस्टचर्च में 9 भारतीय भी लापता हैं.न्यूजीलैंड की पीएम जेसिका अंर्डर्न ने हमले को न्यूजीलैंड के इतिहास का काला दिन बताया है.

क्राइस्टचर्च में मस्जिद पर हमला कर लोगों को शिकार बनाने वाला शख्स ब्रेंटन टैरंट कुछ दिन पहले पाकिस्तान गया था.पाकिस्तान से लौटकर हमलावर ने फेसबुक पोस्ट में इसका जिक्र भी किया था. टैरंट ने पाकिस्तान को खूबसूरत जगह बताया था.उसने लिखा पाकिस्तान में दुनिया के सबसे उदार लोग रहते हैं.फेसबुक पर पोस्ट में उसने पाकिस्तान सरकार से वीजा नियम आसान करने की अपील की थी.उसने लिखा था की पाकिस्तान एक खूबसूरत जगह है और पाकिस्तान सरकार को वीजा नियम आसान करने चाहिए.क्राइस्टचर्च का ये हमलावर फेसबुक का भी खासा इस्तेमाल करता था.हमलावर ने फेसबुक पर अपनी क्रूरता का लाइव ब्राडकास्ट किया.जिसमें देखा जा सकता है किस क्रूरता से इसने लोगों को मौत के घाट उतार दिया.पाकिस्तान के अलावा हमलावर नॉर्थ कोरिया भी गया था.

टैरंट ने अपना एक मेनिफेस्टो भी लिखा था.जिसमें उसने इस हमले के बारे में योजना का जिक्र भी किया था.टैरंट ने मैनिफेस्टो में लिखा है कि वह एक वर्किंग क्लास और निम्न आय वाले परिवार में पैदा हुआ.पढ़ाई में उसकी कोई खास रूचि नहीं थी.कैंसर से उसके पिता की मौत करीब 8 साल पहले हो गई थी.उसके बाद उसने दुनिया घूमने के लिए ऑस्ट्रेलिया छोड़ा.