अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रम्प के एक ट्वीट के बाद सोशल मीडिया और मीडिया में चर्चा हो रही है की आईएसआईएस का मुखिया और खलीफा बनने का सपना देखने वाला आतंकी बगदादी सीरिया में अमेरिकी स्पेशल फ़ोर्स के एक हमले में मारा गया है। ऐसा माना जा रहा है की ट्रम्प ने इस हमले को पिछले हफ्ते मंजूरी दी थी।

अमेरिकी मीडिया के अनुसार ड्रोन, हेलीकाप्टर और लड़ाकू विमानों के सयुंक्त हमले में बगदादी की मौत हुई है। हालांकि कुछ न्यूज़ चैनल के अनुसार बगदादी ने हमले के दौरान खुद को ही विस्फोटक से उड़ा लिया। अमेरिकी रक्षा विभाग की तरफ से अभी तक किसी भी तरह की पुष्टि नहीं की गयी है।

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय रविवार सुबह 9 बजे इस बारें में आधिकारिक घोषणा करेगा। बगदादी पिछले कुछ समय से सीरिया के पश्चिमी इलाके में छिपा हुआ था और समय समय पर अपने ठिकाने बदलता रहता था। उसने अपनी वेशभूषा भी काफी बदल रखी थी। अब वो साधारण से दिखने वाले कपड़े पहनता और साथ में रहने वाले लोगों को भी किसी तरह की कोई इलेक्ट्रॉनिक उपकरण इस्तेमाल नहीं करने देता था।

बगदादी के ऊपर 25 मिलियन डॉलर का इनाम अमेरिकी सरकार ने रख रखा था। अलक़ायदा के बाद बगदादी ने सीरिया और इराक में आईएसआईएस का खौफ कुछ इस तरह फैलाया की अमेरिकी फौजें उसकी तलाश में काफी समय से लगी हुई थी।

सीरिया और इराक में आईएसआईएस की हार के बाद वो काफी कमजोर पड़ चुका था और उसका महत्व प्रतीकात्मक रूप से ज्यादा था। क्यों की काफी समय से वो सिर्फ अपनी जान बचाने को इधर उधर भाग रहा था। हालांकि ये पहली बार नहीं है जब की बगदादी के मरने की खबर आयी हो, इससे पहले कई बार उसके मारे जाने की खबर आती रही है। पर ऐसा पहली बार हुआ है जबकि अमेरिकी राष्ट्रपति ने खुद कुछ इस तरह के संकेत दिए है।