अफगानिस्तान में एक लड़की ने अपने माता पिता की हत्या करने वाले 2 तालिबानी लड़ाकों को मार गिराया और कई को गोली मार कर घायल कर दिया। इससे पहले तालिबानी आतंकवादियों ने उसके घर पर हमला कर माता पिता की हत्या इस लिए कर दी थी क्यों की वो सरकार का समर्थन करते थे।

घटना पिछले हफ्ते उस समय हुई जब घोर प्रान्त में रहने वाली लड़की कमर गुल के घर पर तालिबानियों ने हमला कर दिया।आतंकी उसके पिता, गांव के मुखिया और इलाके के पुलिस प्रमुख की तलाश कर रहे थे। कमर के पिता अफगानिस्तान की सरकार को समर्थन करते थे। इसलिए आतंकियों ने उन्हें घर से बाहर खींच के निकला। उन्हें बचाने आयी कमर की माँ और बाप को आतंकियों ने वंही गोली मार कर हत्या कर दी।

कमर गुल, उस समय घर के अंदर थी और घर पर पहले से रखी AK-47 राइफल ले कर बाहर आयी और अपने माता पिता की हत्या करने वाले दोनों शख्स को गोली मार दी। गोलीबारी में कई अन्य तालिबानी भी गोली का शिकार बने और घायल होकर वंहा से भाग निकले।

कमर गुल की उम्र 14-16 साल के बीच बतायी जा रही है। अफ़ग़ानिस्तान में सही उम्र का पता न होना बहुत ही आम बात है।

घटना के बाद तालिबानी आतंकियों ने दोबारा से कमर गुल के घर पर हमला किया पर गांव के लोगों और सरकार के समर्थन वाले लड़ाकों ने एकजुट हो कर जवाबी हमला किया। जिसके बाद तालिबानी मौके से फरार हो गए।

घटना के बाद कमर गुल को सोशल मीडिया में एक हीरो की तरह देखा जा रहा है। उनकी हथियारों के साथ कई फ़ोटो वायरल हो रही है। पूरे अफ़ग़ानिस्तान में उनकी सराहना हो रही है। सरकारी सुरक्षा एजेंसियो ने कमर गुल और उनके छोटे भाई को सुरक्षा के लिहाज से गांव से निकाल कर अज्ञात स्थान पर भेज दिया है।